Baadal Yuan Garajataa Hai / बादल यूँ गरजता है डर कुछ ऐसा लगता है / Betaab(1983)

Baadal Yuan Garajataa Hai, Dar Kuchh Aisaa Lagataa Hai - Hindi Lyrics

बादल यूँ गरजता है डर कुछ ऐसा लगता है
चमक-चमक के लपक के ये बिजली हम पे गिर जायेगी

बाहर भी तूफ़ान, अन्दर भी तूफ़ान
बीच में दो तूफ़ानों के ये शीशे का मकान
ऐसे दिल धड़कता है
डर कुछ ऐसा लगता है …

ये दीवानी शाम ये तूफ़ानी शाम
आग बरसती है सावन में पानी का है नाम
बस कुछ भी हो सकता है
डर कुछ ऐसा लगता है …

तौबा हुस्न-ए-यार बदले रंग हज़ार
शर्म कभी आती है और कभी आता है प्यार
देखें कौन ठहरता है
डर कुछ ऐसा लगता है …

तुम बैठो उस पार, हम बैठें इस पार
आओ अपने बीच बना लें हम कोई दीवार
दिल फिर भी मिल सकता है
डर कुछ ऐसा लगता है …


  • फ़िल्म – बेताब (1983)
  • गायक/गायिका – लता मंगेशकर, शब्बीर कुमार
  • संगीतकार – आर. डी. बर्मन
  • गीतकार – आनंद बख्शी
  • अदाकार – सनी देओल, अमृता सिंह


Baadal-Yuan-Garajataa-Hai-Betaab(1983)



बादल यूँ गरजता है डर कुछ ऐसा लगता है - हिंदी लिरिक्स 

Baadal Yuan Garajataa Hai, Dar Kuchh Aisaa Lagataa Hai
Chamak chamak ke, lapak ke ye bijali ham pe gir jaayegi

Baahar bhi tufaan, andar bhi tufaan
Bich men do tufaanon ke ye shishe kaa makaan
Aise dil dhadkataa hai, dar kuchh aisaa lagataa hai

Ye diwaani shaam, ye tufaani shaam
Ag barasati hai saawan men, paani kaa hai naam
Bas kuchh bhi ho sakataa hai, dar kuchh aisaa lagataa hai

Taubaa husn-e-yaar, badale rng hajaar
Sharm kabhi ati hai aur kabhi ataa hai pyaar
Dekhe kaun thhaharataa hai, dar kuchh aisaa lagataa hai

Tum baithho us paar, ham baithhe is paar
Ao apane bich banaa le, ham koi diwaar
Dil fir bhi mil sakataa hai, dar kuchh aisaa lagataa hai




Baadal Yuan Garajataa Hai - बादल यूँ गरजता है डर कुछ ऐसा लगता है
- हिंदी लिरिक्स 


Baadal Yuan Garajataa Hai / बादल यूँ गरजता है डर कुछ ऐसा लगता है / Betaab(1983) Baadal Yuan Garajataa Hai / बादल यूँ गरजता है डर कुछ ऐसा लगता है /  Betaab(1983) Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 16, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.