Chand Si Mahabuba Ho Meri / चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था / Himalaya Ki God Mein (1965

Chand Si Mahabuba Ho Meri  Kab Aisaa Mainne Sochaa Thaa Hindi Song Lyrics 

चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था
हाँ तुम बिलकुल वैसी हो जैसा मैंने सोचा था
चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था
हाँ तुम बिलकुल वैसी हो जैसा मैंने सोचा था

ना कसमे हैं ना रस्मे हैं ना शिकवे हैं ना वादे हैं
एक सूरत भोली भाली है दो नैना सीधे साधे हैं
ऐसा ही रूप ख्यालों में था जैसा मैंने सोचा था
हाँ तुम बिलकुल वैसी हो जैसा मैंने सोचा था

मेरी खुशियाँ ही ना बंटे मेरे गम भी सहना चाहे
देखे ना ख़्वाब महलों के मेरे दिल में रहना चाहे
इस दुनिया में कौन था ऐसा जैसा मैंने सोचा था
हाँ तुम बिलकुल वैसी हो जैसा मैंने सोचा था
चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था
हाँ तुम बिलकुल वैसी हो जैसा मैंने सोचा था

  • चित्रपट : हिमालय की गोद में (१९६५) 
  • गीतकार : आनंद बक्षी, 
  • गायक : मुकेश, 
  • संगीतकार : कल्याणजी आनंदजी, 

Chand-Si-Mahabuba-Ho-Meri-Himalaya-Ki-God-Mein-(1965

चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था हिंदी लिरिक्स 

Chand Si Mahabuba Ho Meri  Kab Aisaa Mainne Sochaa Thaa 
Haaan tum bilakul waisi ho, jaisaa mainne sochaa thaa

Naa kasme hain naa rasmen hain, naa shikawe hain naa waade hain
Ik surat bholi bhaali hai, do nainaa sidhe saade hain
Aisaa hi rup khayaalon men thaa, jaisaa mainne sochaa thaa
Haaan tum bilakul waisi ho, jaisaa mainne sochaa thaa

Meri khushiyaaan hi naa baante, mere gam bhi sahanaa chaahe
Dekhe naa khwaab wo mahalon ke, mere dil men rahanaa chaahe
Is duniyaa men kaun thaa aisaa, jaisaa mainne sochaa thaa
Haaan tum bilakul waisi ho, jaisaa mainne sochaa thaa


Chand Si Mahabuba Ho Meri  kab aisaa mainne sochaa thaa Hindi Song Lyrics
चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था हिंदी लिरिक्स 

Chand Si Mahabuba Ho Meri / चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था / Himalaya Ki God Mein (1965 Chand Si Mahabuba Ho Meri / चाँद सी महबूबा हो मेरी कब ऐसा मैंने सोचा था / Himalaya Ki God Mein (1965 Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 21, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.