मंगलवार, 13 दिसंबर 2016

Chndan Saa Badan, Chnchal Chitawan चन्दन सा बदन चंचल चितवन / Saraswatichandra (1968)

Chndan Saa Badan, Chnchal Chitawan

चन्दन सा बदन चंचल चितवन
धीरे से तेरा ये मुस्काना
मुझे दोष न देना जग वालों \- (२)
हो जाऊँ अगर मैं दीवाना
चन्दन सा बदन चंचल चितवन

ये काम कमान भँवे तेरी
पलकों के किनारे कजरारे
माथे पर सिंदूरी सूरज
होंठों पे दहकते अंगारे
साया भी जो तेरा पड़ जाए \- (२)
आबाद हो दिल का वीराना
चन्दन सा बदन चंचल चितवन

तन भी सुंदर मन भी सुंदर
तू सुंदरता की मूरत है
किसी और को शायद कम होगी
मुझे तेरी बहुत ज़रूरत है
पहले भी बहुत मैं तरसा हूँ \- (२)
तू और न मुझको तरसाना
चन्दन सा बदन चंचल चितवन



  • चित्रपट : सरस्वतीचंद्र (१९६८) 
  • गीतकार : इंदिवर, 
  • गायक : मुकेश,
  • संगीतकार : कल्याणजी आनंदजी, 
  • राग : यमन 


Chndan-Saa-Badan-Chnchal-Chitawan


चन्दन सा बदन चंचल चितवन

Chndan Saa Badan, Chnchal Chitawan
Dhire se teraa ye muskaanaa
Mujhe dosh naa denaa jagawaalon
Ho jaae agar dil diwaanaa
Chndan Saa Badan, Chnchal Chitawan

Ye wishaal nayan jaise nil gagan
Pnchhi ki tarah kho jaauan main
Sarahaanaa jo ho teri baahon kaa
Angaaron pe so jaauan main
Meraa bairaagi man dol gayaa
Dekhi jo adaa teri mastaanaa
Chndan Saa Badan, Chnchal Chitawan

Tan bhi sundar, man bhi sundar
Tu sundarataa ki murat hai
Kisi aur ko shaayad kam hogi
Mujhe teri bahot jarurat hai
Pahale bhi bahot dil tarasaa hai
Tu aur naa dil ko tarasaanaa

Chndan Saa Badan, Chnchal Chitawan





FM Hindi Song
FM Hindi Song

नमस्कार दोस्तों मैं FM Hindi Song की और से आप सभी का धन्यवाद देता हु जो आप जो आप सभी ने इस ब्लॉग को अपना समझा साथ ही अपना प्यार और सहयोग दिया..

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें