Ga Raha Hun Is Mehfil Mein / गा रहा हूँ इस महफ़िल में / Lyrics In Hindi - Dil Kaa Kyaa Qasoor (1992)

Ga Raha Hun Is Mehfil Mein  -Lyrics In Hindi -  Dil Kaa Kyaa Qasoor (1992)

गा रहा हूँ इस महफ़िल में आपकी मोहब्बत है
आज हूँ मैं जो कुछ भी वो आपकी इनायत है
ज़िन्दगी से कैसा शिक़वा खुद से ही शिकायत है
आज हूँ मैं जो कुछ …

प्यार की वो सौगातें किस तरह भुला दूँ मैं
आपका हर एक आँसू पलकों पे उठा लूँ मैं
आपके ही दम से तो ये आज मेरी शोहरत है
आज हूँ जो कुछ भी …

कितने रंग हैं जीवन के ये अजब कहानी है
कुछ मिले तो कुछ खो जाए रीत ये पुरानी है
किसको क्या मिला यहाँ सब अपनी अपनी क़िस्मत है
आज हूँ जो कुछ भी …

काश फिर कोई नग़मा इस फ़िज़ा में लहराए
दूर से सही लेकिन आपकी सदा आए
मेरे दिल की हर धड़कन अब आपकी अमानत है
आज हूँ जो कुछ भी …
गा रहा हूँ इस महफ़िल में आपकी मोहब्बत है


Ga-Raha-Hun-Is-Mehfil-Mein-Dil-Kaa-Kyaa-Qasoor-(1992)


गा रहा हूँ इस महफ़िल में आपकी मोहब्बत है हिंदी लिरिक्स

Ga Raha Hun Is Mehfil Mein Apki Mohabaat Hai
Aaj Hun Main Jo Kuch Bhi Vo Aapki Inayat Hai
Zindagi Se Kaisa Shikwa Khud Se Hi Shikayat Hai
Aaj Hun Main Jo Kuchh Bhi

Pyar Ki Vo Saugaten Kis Tarah Bhulaa Duun Main
Aapka Har Ek Aansu Palakon Pe Uthaa Lun Main
Aapake Hi Dam Se To Ye Aaj Meri Shoharat Hai
Aaj Hun Main Jo Kuchh Bhi

Kitane Rang Hain Jivan Ke Ye Ajab Kahani Hai
Kuch Mile To Kuch Kho Jaye Reet Ye Purani Hai
Kisko Kya Milaa Yaha Sab Apani Apani Qismat Hai
Aaj Hun Main Jo Kuch Bhi

Kaash Phir Koii Nagama Is Fiza Men Laharaye
Door Se Sahi Lekin Apaki Sadaa Aaye
Mere Dil Ki Har Dhadakan Ab Apaki Amaanat Hai
Aaj Hun Main Jo Kuchh Bhi
Ga Raha Hun Is Mehfil Mein Apki Mohabaat Hai



Ga Raha Hun Is Mehfil Mein -Full Video Song With Lyrics - Divya Bharati- Kumar Sanu


Ga Raha Hun Is Mehfil Mein / गा रहा हूँ इस महफ़िल में / Lyrics In Hindi - Dil Kaa Kyaa Qasoor (1992) Ga Raha Hun Is Mehfil Mein / गा रहा हूँ इस महफ़िल में / Lyrics In Hindi - Dil Kaa Kyaa Qasoor (1992) Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 31, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.