Jindagi Bhar Nahin Bhulegi Wo Barasaat Ki Raat ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो बरसात की रात Barsaat Ki Raat (1960

Jindagi Bhar Nahin Bhulegi Wo Barasaat Ki Raat


ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो बरसात की रात
एक अंजान हसीना से मुलाकात की रात
ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी ...

हाय वो रेशमी ज़ुल्फ़ों से बरसता पानी
फूल से गालों पे रुकने को तरसता पानी
दिल में तूफ़ान उठाते हुए
दिल में तूफ़ान उठाते हुए हालात की रात
ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी ...

डर के बिजली से अचानक वो लिपटना उसका
और फिर शर्म से बलखाके सिमटना उसका
कभी देखी न सुनी ऐसी हो
कभी देखी न सुनी ऐसी तिलिस्मात कि रात
ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी ...

सुर्ख आंचल को दबाकर जो निचोड़ा उसने
दिल पे जलता हुआ एक तीर सा छोड़ा उसने
आग पानी में लगाते हुए
आग पानी में लगाते हुए जज़बात कि रात
ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी ...

मेरे नग़्मों में जो बसती है वो तस्वीर थी वो
नौजवानी के हसीं ख़्वाब की ताबीर थी वो
आस्मनों से उतर आई थी जो रात की रात
ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी ...




  • चित्रपट : बरसात की रात (१९६०) 
  • संगीतकार : रोशन, 
  • गीतकार : साहिर लुधियानवी, 
  • गायक : मोहम्मद रफी, 


Jindagi-Bhar-Nahin-Bhulegi-Wo-Barasaat-Ki-Raat


ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो बरसात की रात

Jindagi Bhar Nahin Bhulegi Wo Barasaat Ki Raat
Ek anjaan hasinaa se mulaakaat ki raat

Haaye wo reshami julfonse barasataa paani
Ful se gaalon pe rukane ko tarasataa paani
Dil men tufaan uthhaate huye, jajbaat ki raat

Dar ke bijali se achaanak wo lipatanaa usakaa
Aur fir sharm se balakhaa ke simatanaa usakaa
Kabhi dekhi n suni aisi tilismaat ki raat

Surkh anchal ko dabaa kar jo nichodaa usane
Dil pe jalataa hua ek tir saa chhodaa usane
Ag paani men lagaate huye haalat ki raat

Mere nagmon men jo basati hai wo tasawir thi wo
Naujawaani ke hasin khwaab ki taabir thi ho
Asamaanon se utar ai thi jo raat ki raat

Jindagi Bhar Nahin Bhulegi Wo Barasaat Ki Raat






Jindagi Bhar Nahin Bhulegi Wo Barasaat Ki Raat ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो बरसात की रात Barsaat Ki Raat (1960 Jindagi Bhar Nahin Bhulegi Wo Barasaat Ki Raat ज़िंदगी भर नहीं भूलेगी वो बरसात की रात Barsaat Ki Raat (1960 Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 13, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.