Mausam Hain Ashikaana / मौसम है आशिकाना ऐ दिल कहीं से उनको / Pakeezah 1972

Mausam Hain Ashikaana Hindi Song Lyrics 

मौसम है आशिकाना ऐ दिल कहीं से उनको ऐसे में ढूंढ लाना

कहना के रुत जवां है, और हम तरस रहे हैं
काली घटा के साये, बिरहन को डस रहे हैं
डर है न मार डाले, सावन का क्या ठिकाना
मौसम है आशिकाना



सूरज कहीं भी जाये, तुम पर ना धूप आये
तुमको पुकारते हैं, इन गेसूओं के साये
आ जाओ मैं बना दूँ, पलकों का शामियाना
मौसम है आशिकाना

फिरते हैं हम अकेले, बाहों में कोई ले ले
आखिर कोई कहाँ तक तनहाईयों से खेले
दिन हो गये हैं ज़ालिम, राते हैं कातिलाना
मौसम है आशिकाना

ये रात ये खामोशी, ये ख्व़ाब से नज़ारें
जुगनू हैं या जमीं पर उतरे हुए हैं तारें
बेख़ाब मेरी आँखे, मदहोश है ज़माना
मौसम है आशिकाना…

  • चित्रपट : पाकीज़ा (१९७१
  • गीतकार : कमाल अमरोही,
  •  गायक : लता मंगेशकर, 
  • संगीतकार : गुलाम मोहम्मद, 

Mausam-Hain-Ashikaana-Pakeezah-1972


मौसम है आशिकाना ऐ दिल कहीं से उनको ऐसे में ढूंढ लाना हिंदी लिरिक्स 

Mausam hai Ashikaanaa 
Ai Dil Kahin Se Unako Aise Men Dhundh Laanaa

Kahanaa ke rut jawaan hai, aur ham taras rahe hain
Kaali ghataa ke saaye, birahan ko das rahe hain
Dar hai naa maar daale, saawan kaa kyaa thhikaanaa

Suraj kahin bhi jaaye, tum par naa dhup aye
Tum ko pukaarate hain, in gesuon ke saaye
A jaao main banaa duan, palakon kaa shaamiyaanaa

Firate hain ham akele, baahon men koi le le
Akhir koi kahaaan tak tanahaaiyon se khele
Din ho gaye hain jaalim, raate hain kaatilaanaa

Ye raat ye khaamoshi, ye khwaab se najaaren
Juganu hain yaa jaminpar utare huye hain taaren
Bekhaab meri aankhe, madahosh hai jmaanaa



Mausam Hain Ashikaana Hindi Song Lyrics
मौसम है आशिकाना ऐ दिल कहीं से उनको ऐसे में ढूंढ लाना हिंदी लिरिक्स 

Mausam Hain Ashikaana / मौसम है आशिकाना ऐ दिल कहीं से उनको / Pakeezah 1972 Mausam Hain Ashikaana / मौसम है आशिकाना ऐ दिल कहीं से उनको / Pakeezah 1972 Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 21, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.