Mere Nainaa Saawan Bhaado / मेरे नैना सावन भादों / Mehbooba (1976)

Mere Nainaa Saawan Bhaado

मेरे नैना सावन भादों, फिर भी मेरा मन प्यासा – (2)

बात पुरानी है, एक कहानी है
अब सोचूँ तुम्हें, याद नहीं है
अब सोचूँ नहीं भूले, वो सावन के झूले
ऋतु आये ऋतु जाये देके
झूठा एक दिलासा, फिर भी…

ऐ दिल दीवाने, खेल है क्या जाने
दर्द भरा ये, गीत कहाँ से
इन होंठों पे आए, दूर कहीं ले जाए
भूल गया क्या, भूल के भी है
मुझको याद ज़रा सा, फिर भी …

बरसों बीत गए, हमको मिले बिछड़े
बिजुरी बनकर, गगन पे चमके
बीते समय की रेखा, मैंने तुमको देखा
तड़प तड़प के इस बिरहन को
आया चैन ज़रासा, फिर भी …

घुंघरू की छमछम, बन गई दिल का ग़म
डूब गया दिल, यादों में फिर
उभरी बेरंग लकीरें, देखो ये तसवीरें
सूने महल में नाच रही है
अब तक एक रक्कासा, फिर भी…


  • फिल्मः महबूबा (1976)
  • गायक/गायिकाः लता मंगेशकर
  • संगीतकारः आर. डी. बर्मन
  • गीतकारः आनंद बख्शी
  • कलाकारः राजेश खन्ना, हेमा मालिनी

Mere-Nainaa-Saawan-Bhaado-Mehbooba-(1976)


मेरे नैना सावन भादों, फिर भी मेरा मन प्यासा

Mere Nainaa Saawan Bhaado Fir Bhi Meraa Man Pyaasaa

Baat puraani hai, ek kahaani hai
Ab sochun tumhe yaad nahin hai, ab sochun nahin bhulen
Wo saawan ke jhulen
Rut aye rut jaaye de ke jhuthhaa ek dilaasaa

Barason bit gaye, ham ko mile bichhade
Bijuri ban ke gagan pe chamaki bite samay ki rekhaa
Mainne tumako dekhaa
Tadp tadp ke is birahan ko ayaa chain jaraasaa

Ghugnru ki chhamachham, ban gayi dil kaa gam
Dub gayaa dil yaadon men ubhari berng lakiren
Dekho ye taswiren
Sune mahal men naach rahi hai ab tak ek rakkaasaa





Mere Nainaa Saawan Bhaado
मेरे नैना सावन भादों

Mere Nainaa Saawan Bhaado / मेरे नैना सावन भादों / Mehbooba (1976) Mere Nainaa Saawan Bhaado / मेरे नैना सावन भादों / Mehbooba (1976) Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 15, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.