सोमवार, 12 दिसंबर 2016

Mujhe Naulakha Manga De Re मुझे नौलक्खा माँगा दे रे (1984)

Mujhe Naulakha Manga De Re O Saiya Deewane

अंग अंग तेरा रंग रचाके
ऐसा करूं सिंगार
जब जब झांझर झनकाऊ मैं
खनके मनके तार
मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने 
मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने
माथे पे झूमर कानों में झुमका
पांव में पायलिया हाथों में हो कंगना
मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने
तुझे मैं तुझे मैं
तुझे मैं तुझे मैं
तुझे गले से लगा लुंगी ओ सैयां दीवाने
मुझे अंगिया सिला दे रे ओ सैयां दीवाने
तुझे मैं तुझे मैं
तुझे मैं तुझे मैं
तुझे सीने से लगा लुंगी ओ सैंया दीवाने
मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने

सलमा सितारों की झिलमिल चुनरिया
आऊ पहनके तो फिसले नजरिया
मुझ को सजा दे बलमा
सजा दे मुझको सजा दे बलमा
कोरी कुवारी ये कमसिन उमरिया
तेरे लिए नाचे सजके सावरिया
लाली मंगा दे सजना
सूरज से लाली मंगा दे सजना .....
तुझे मैं तुझे मैं
तुझे मैं तुझे मैं
तुझे होठों से लगा लूंगी ओ सैंया दीवाने
तुझे होठों से लगा लूंगी ओ सैंया दीवाने
मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने

में तो सारी उमरिया लुटाये बैठी
बलमा ... दो अखियों की शरारत में
में तो जन्मो का सपना सजाये बैठी
सजना .... खो के तेरी मोहब्बत में

माना रे माना ये अब मैंने माना
होता है क्या सैयां दिल का लगाना
रोके ये दुनिया या रूठे ज़माना
जाना है मुझको सजन घर जाना
हो ...... जैसे गजरा हसे जैसे गजरा हसे
जैसे गजरा हसे जैसे गजरा हसे
वैसे अखियों में तुम मुस्कराना
हो किरणों से ये मांग मेरी सजा दे
पूनम के चंदा की बिंदिया मंगा दे
तुझे में तुझे में
तुझे में तुझे मैं

तुझे माथे पे सजा लुंगी ओ सैयां दीवाने
तुझे माथे पे सजा लुंगी ओ सैयां दीवाने
माथे पे झूमर कानों में झुमका

पाँव में पायलिया हाथो में हो ......
मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने
तेरे होठों पे छलका दूंगी में सारे मैख़ाने

लोग कहते हैं में शराबी हूँ
लोग कहते हैं में शराबी हूँ
तुमने भी शायद येही सोच लिया हाँ .....
लोग कहते हैं में शराबी हूँ

किसी पे हुस्न का गुरुर जवानी का नशा
किसी के दिल पे मोहब्बत की रवानी का नशा
किसी को देखके साँसों से उभरता है नशा
बिना पिए भी कहीं हद से गुजरता है नशा
नशे में कौन नहीं है मुझे बताओ ज़रा
किसे है होश मेरे सामने तो लाओ जरा
नशा है सब पे मगर रंग नशे का है जुदा

खिली खिली हुई सुबह पे है शबनम का नशा
हवा पे खुसबू का बादल पे है रिमझिम का नशा
कही सुरूर है खुशियों का कही ग़म का नशा

नशा शराब मे होता तो नाचती बोतल
मैकदे झूमते पैमानों में होती हलचल
नशा शराब मे होता तो नाचती बोतल
नशे में कौन नहीं है मुझे बताओ ज़रा
नशे में कौन नहीं है मुझे बताओ ज़रा
लोग कहते है में शराबी हूँ
लोग कहते है में शराबी हूँ
तुम ने भी शायद येही सोच लिया हाँ ....
लोग कहते है में शराबी हूँ
थोड़ी आँखों से पिला दे रे सजनी दीवानी
थोड़ी आँखों से पिला दे रे सजनी दीवानी
तुझे में तुझे मैं
तुझे साँसों में बसा लूँगा सजनी दीवानी
तुझे नौलक्खा मंगा दूंगा सजनी दीवानी
तुझे नौलक्खा मंगा दूंगा सजनी दीवानी

Mujhe-Naulakha-Manga-De-Re-O-Saiya-Deewane


मुझे नौलक्खा माँगा दे रे ओ सैयां दीवाने 

Ang ang tera rang rachaake Aisa karu singaar
Jab jab jhaanjhar jhankaau main Khanake man ke taar

Mujhe Naulakha Manga De Re O Saiya Deewane
Maathe pe jhumar Kaanon mein jhumka
Paanv mein paayaliyaa Haatho mein ho kangana

Mujhe naulakha manga De re o saiya deewane
Tujhe main tujhe main Tujhe gale se laga lungi
O saiya deewane Mujhe angiya sila de
O saiya deewane Tujhe main tujhe main
Tujhe seen se lagaa lungi O saiya deewane
Mujhe naulakha manga De re o saiya deewane

Salma sitaron ki jhilmil chunariya Aau pahenke to fisle najariya
Mujhe ko sajaa de balmaa sajaa de Mujhe ko sajaa de balmaa

Kori kuwari yeh kamseen umariya Tere liye naache sajke sanwariya
Laali manga de sajna Suraj se laali manga de sajna
Tujhe main tujhe main Tujhe hothon se laga
Lungi o saiya deewane Tujhe hothon se laga
Lungi o saiya deewane Mujhe naulakha manga
De re o saiya deewane

Main to saari umariya lutaye baithi Balma do akhiyon ki sharaat mein
Main to janmon ka Sapna sajaaye baithi
Sajanaa kho ke teri Mohabbat mein

Maana re maana yeh ab maine maana Hota hai kya saiyan dil ka lagana
Roke yeh duniya ya ruthe zamana Jaana hai mujhko sajan ghar jaana
Jaise kajra hase jaise kajra hase Jaise kajra hase jaise kajra hase
Waise akhiyon mein Tum muskurana
Ho kirnon se yeh Maang meri sajaa de
Punam ke chanda ki Bindiya manga de
Tujhe main tujhe main Tujhe maathe pe sajaa
Lungi o saiya deewane Tujhe maathe pe sajaa
Lungi o saiya deewane

Maathe pe jhumar Kaanon mein jhumka
Paanv mein paayaliyaa Haatho mein ho kangana
Mujhe naulakha manga De re o saiya deewane
Tere kadmon pe chhalka Dungi main saare maikhaane


Log kehte hai main sharaabi hun
Tum ne bhi shaayad Yehi soch liye haan
Log kehte hai main sharaabi hun

Kissi pe husn ka gurur Jawaani ka nasha
Kissi ke dil pe mohabbat Ki rawaani ka nasha
Kissi ko dekhke saanso Se ubharta hai nasha
Bina piye bhi kahin hadh Se guzarta hai nasha
Nashe mein kaun nahin Hai mujhe bataao zara
Kisse hai hosh mere Saamne to laao zara
Nasha hai sab pe magar Rang nashe ka hai juda
Khili khili hui subah pe Hai shabnam ka nasha
Hawa pe khushbu ka baadal Pe hai rimjhim ka nasha
Kahin surur hai khushiyon Ka kahin gham ka nasha
Nasha sharaab mein Hota to naachti botal
Maikade jhumte paimaanon Mein hoti hulchul
Nasha sharaab mein Hota to naachti botal
Nashe mein kaun nahin Hai mujhe bataao zara
Nashe mein kaun nahin Hai mujhe bataao zara

Log kehte hai main sharaabi hun
Tum ne bhi shaayad Yehi soch liye haan
Log kehte hai main sharaabi hun

Thodi aankho se pilaa De re sajni deewani
Tujhe main tujhe main Tujhe saanso mein basaa
Lunga sajni deewani Tujhe naulakhaa manga
Dunga sajni deewani Tujhe naulakhaa manga
Dunga sajni deewani.

Mujhe Naulakha Manga De Re O Saiya Deewane



FM Hindi Song
FM Hindi Song

नमस्कार दोस्तों मैं FM Hindi Song की और से आप सभी का धन्यवाद देता हु जो आप जो आप सभी ने इस ब्लॉग को अपना समझा साथ ही अपना प्यार और सहयोग दिया..

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें