O Saathi Re, Tere Binaa Bhi Kyaa Jinaa / ओ साथी रे, तेरे बिना भी Muqaddar Ka Sikandar (1978)

O Saathi Re, Tere Binaa Bhi Kyaa Jinaa Hindi Song Lyrics 

साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीना 
फूलों में कलियों में, सपनों की गलियों में
तेरे बिना कुछ कहीं ना
तेरे बिना भी क्या जीना

हर धड़कन में प्यास है तेरी, साँसों में तेरी खुश्बू है
इस धरती से उस अम्बर तक, मेरी नज़र में तू ही तू है
प्यार ये टूटे ना तू मुझसे रूठे ना, साथ ये छूटे कभी ना
तेरे बिना भी क्या जीना...

तुझ बिन जोगन मेरी रातें, तुझ बिन मेरे दिन बंजारे
मेरा जीवन जलती धूनी, बुझे-बुझे मेरे सपने सारे
तेरे बिना मेरी, मेरे बिना तेरी, ये जिंदगी जिंदगी ना
तेरे बिना भी क्या जीना...

आशा
जाने कैसे अनजाने ही, आन बसा कोई प्यासे मन में
अपना सब कुछ खो बैठे हैं, पागल मन के पागलपन में
दिल के अफसाने, मैं जानूँ तू जाने, और ये जाने कोई ना
तेरे बिना भी क्या जीना...


  • Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1978)
  • Music By: कल्याणजी आनंदजी
  • Lyrics By: अनजान
  • Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले


O-SaathiRe-Tere-Binaa-Bhi-Kyaa-Jinaa- Muqaddar-Ka-Sikandar-(1978)

ओ साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीना हिंदी लिरिक्स 

O Saathi Re, Tere Binaa Bhi Kyaa Jinaa
Fulon men, kaliyon men, sapanon ki galiyon men
Tere binaa kuchh kahi naa

Har dhadkan men pyaas hai teri, saaanson men teri khushabu hai
Is dharati se us anbar tak, meri najar men tu hi tu hai
Pyaar ye tute naa, tu mujh se ruthhe naa
Saath ye chhute, kabhi naa

Tujh bin jogan meri raate, tujh bin mere din bnjaare
Meraa jiwan jalati dhuni, bujhe bujhe mere sapane saare
Tere binaa meri, mere binaa teri
Ye jindagi, jindagi naa







O Saathi Re, Tere Binaa Bhi Kyaa Jinaa Hindi Song Lyrics
ओ साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीना हिंदी लिरिक्स


O Saathi Re, Tere Binaa Bhi Kyaa Jinaa / ओ साथी रे, तेरे बिना भी Muqaddar Ka Sikandar (1978) O Saathi Re, Tere Binaa Bhi Kyaa Jinaa / ओ साथी रे, तेरे बिना भी  Muqaddar Ka Sikandar (1978) Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 19, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.