Pardaa hai pardaa, parade ke pichhe / पर्दा है पर्दा, पर्दे के पीछे, पर्दा नशीं है / Amar Akbar Anthony (1977)

Pardaa Hai Pardaa, Parade Ke Pichhe Pardaanashin Hai Hindi Song Lyrics

शबाब पे मैं ज़रा सी शराब फैंकूँगा
किसी हसीं की तरफ़ ये ग़ुलाब फैंकूँगा

पर्दा है, पर्दा है
पर्दा है, पर्दा है

पर्दा है पर्दा, पर्दे के पीछे, पर्दा नशीं है
पर्दा नशीं को बे\-पर्दा न कर दूँ तो
अक़बर मेरा नाम नहीं है
पर्दा है पर्दा...

मैं देखता हूँ जिधर, लोग भी उधर देखें
कहाँ ठहरती है जाकर, मेरी नज़र देखें
मेरे ख़्वाबों की शहज़ादी, मैं हूँ अक़बर इलाहबादी
मैं शायर हूँ हसीनों का, मैं आशिक़ महजबीनों का
तेरा दामन न छोड़ूँगा, मैं हर चिल्मन को तोड़ूँगा

न डर ज़ालिम ज़माने से, अदा से या बहाने से
ज़रा अपनी सूरत दिखा दे, समा ख़ूबसूरत बना दे
नहीं तो तेरा नाम लेके, तुझे कोई इल्ज़ाम देके
तुझको इस महफ़िल में रुसवा न कर दूँ तो
अक़बर मेरा नाम नहीं है
पर्दा है पर्दा...

ख़ुदा का शुक्र है, चहरा नज़र तो आया है
हया का रँग निगाहों पे, फिर भी छाया है
किसीकी जान जाती है, किसीको शर्म आती है
कोई आँसू बहाता है, तो कोई मुस्कुराता है
सताकर इस तरह अक़्सर, मज़ा लेते हैं ये दिलबर
यही दस्तूर है इनका, सितम मशहूर है इनका

ख़फ़ा होके चहरा छुपा ले, मगर याद रख हुस्न\-वाले
जो है आग तेरी जवानी, मेरा प्यार है सर्ज़ पानी
मैं तेरे ग़ुस्से को ठंडा न कर दूँ तो
अक़बर मेरा नाम नहीं है
पर्दा है पर्दा...

  • चित्रपट : Amar Akbar Anthony
  • संगीतकार लक्ष्मीकांत - प्यारेलाल
  • गीतकार : आनंद बक्षी
  • गायक /: मोहम्मद रफ़ी-

Pardaa-hai-pardaa-parade-ke-pichhe-Amar-Akbar-Anthony-(1977)

पर्दा है पर्दा, पर्दे के पीछे, पर्दा नशीं है हिंदी लिरिक्स 

Shabaab Pe Main Jraa Si Sharaab Fekungaa 
Kisi hasin ki taraf ye gulaab fekungaa

Pardaa Hai, Pardaa hai, pardaa hai, pardaa hai
Pardaa Hai Pardaa, Parade Ke Pichhe Pardaanashin Hai Hindi Song Lyrics
Pardaanashin ko bepardaa naa kar duan to
Akabar meraa naam nahin hai

Main dekhataa huan jidhar, log bhi udhar dekhe
Kahaaan thhaharati hai jaakar meri najr dekhe

Mere khwaabon ki shahajaadi Main huan akabar illaahabaadi
Main shaayar huan hasinon kaa  Main ashik mehajabanin ko
Teraa daaman, teraa daaman, teraa daaman Teraa daaman naa chhoduangaa
Main har chilaman, chilaman, chilaman  Main har chilaman ko todungaa

N dar jaalim jmaane se  Adaa se yaa bahaane se
Jraa apani surat dikhaa de  Samaan khubasurat banaa de
Nahin to teraa naam leke  Tujhe koi iljaam deke
Tujhako is mahafil men  Rusawaa n kar dun to rusawaa
Pardaanashin ko bepardaa ...

Khudaa kaa shukr hai, cheharaa najr to ayaa hai
Hayaa kaa rng nigaahon pe fir bhi chhaayaa hai
Kisi ki jaan jaati hai Kisi ko sharm ati hai
Koi aansu bahaataa hai To koi muskuraataa hai
Sataakar is tarah aksar  Majaa lete hain ye dilabar
Haaan yahi dastur hai inakaa Sitam mashahur hai inakaa

Khfaa hoke cheharaa chhupaa le Magar yaad rakh husnawaale
Jo hai ag teri jawaani  Meraa pyaar hai sard paani
Main ter gusse ko thhndaa n kar dun haaan
Pardaanashin ko bepardaa ...

Movie : Amar Akbar Anthony (1977)
Starring   ; Rishi Kapoor, Amitabh Bachchan, Neetu Singh,
Lyricist : Anand Bakshi,
Singer : Mohammad Rafi,
Music Director : Laxmikant Pyarelal,

Pardaa Hai Pardaa, Parade Ke Pichhe Pardaanashin Hai Hindi Song Lyrics
पर्दा है पर्दा, पर्दे के पीछे, पर्दा नशीं है हिंदी लिरिक्स  Amar Akbar Anthony (1977)

Pardaa hai pardaa, parade ke pichhe / पर्दा है पर्दा, पर्दे के पीछे, पर्दा नशीं है / Amar Akbar Anthony (1977) Pardaa hai pardaa, parade ke pichhe / पर्दा है पर्दा, पर्दे के पीछे, पर्दा नशीं है / Amar Akbar Anthony (1977) Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 20, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.