बुधवार, 14 दिसंबर 2016

Pnkh Hote To Ud Ati Re, Rasiyaa O Jaalimaa- पंख होते तो उड़ आती - Sehra (1963)

Pnkh Hote To Ud Ati Re, Rasiyaa O Jaalimaa

पंख होते तो उड़ आती, रसियाज़ालिमा 
तुझे दिल का दाग़ दिखलाती

किरनें बन के बाहें फैलायी
आस के बादल पे जाके लहरायी
दूर से देखा मौसम हसीं था
आनेवाले तू ही नहीं था
रसिया ओ ज़ालिमा
तुझे दिल का दाग दिखलाती ...

यादों में खोयी पहुँची गगन में
पंछी बन के सच्ची लगन में
झूल चुकी मैं वादे का झूला
तू तो अपना वादा ही भूला
रसिया ओ ज़ालिमा
तुझे दिल का दाग दिखलाती

चित्रपट : सेहरा (१९६३)
गायक : लता मंगेशकर
गीतकार : हसरत जयपुरी,
, संगीतकार : रामलाल,

Pnkh-Hote-To-Ud-Ati-Re-Rasiyaa-O-Jaalimaa

पंख होते तो उड़ आती, रसिया ओ ज़ालिमा 

Pnkh Hote To Ud Ati Re, Rasiyaa O Jaalimaa
Tujhe dil kaa daag dikhalaati re

Yaadon men khoi pahuanchi gagan men
Pnchhi ban ke sachchi lagan men
Dur se dekhaa mausam hasin thaa
Anewaale tu hi nahin thaa
Rasiyaa, o jaalimaa, tujhe dil kaa daag dikhalaati re

Kirane banake baahe failaai
As ke baadal pe jaa ke laharaai
Jhul chuki main waade kaa jhulaa
Tu to apanaa waadaa bhi bhulaa
Rasiyaa, o jaalimaa, tujhe dil kaa daag dikhalaati re

Pnkh Hote To Ud Ati Re, Rasiyaa O Jaalimaa





FM Hindi Song
FM Hindi Song

नमस्कार दोस्तों मैं FM Hindi Song की और से आप सभी का धन्यवाद देता हु जो आप जो आप सभी ने इस ब्लॉग को अपना समझा साथ ही अपना प्यार और सहयोग दिया..

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें