Salaam-E-Ishk Meri Jaan / सलाम\-ए\-इश्क़ मेरी जाँ / Muqaddar Ka Sikandar (1978)

Salaam-E-Ishk Meri Jaan, Jraa Kabul Kar Lo Hindi Song Lyrics

इश्क़ वालों से न पूंछो कि
उनकी रात का आलम तनहा कैसे गुज़रता है
जुदा हो हमसफ़र जिसका, वो उसको याद करता है
न हो जिसका कोई वो मिलने की फ़रियाद करता है
 
सलाम\-ए\-इश्क़ मेरी जाँ ज़रा क़ुबूल कर लो हिंदी लिरिक्स
तुम हमसे प्यार करने की ज़रा सी भूल कर लो
मेरा दिल बेचैन, मेरा दिल बेचैन है हमसफ़र के लिये

मैं सुनाऊँ तुम्हें बात इक रात की
चांद भी अपनी पूरी जवानी पे था
दिल में तूफ़ान था, एक अरमान था
दिल का तूफ़ान अपनी रवानी पे था
एक बादल उधर से चला झूम के
देखते देखते चांद पर छा गया
चांद भी खो गया उसके आगोश में
उफ़ ये क्या हो गया जोश ही जोश में
मेरा दिल धडका,
मेरा दिल तडपा किसीकी नज़र के लिये
सलामे\-इश्क़ मेरी जां ज़रा क़ुबूल कर लो ...
 
इसके आगे की अब दास्तां मुझसे सुन
सुनके तेरी नज़र डबडबा जाएगी
बात दिल की जो अब तक तेरे दिल में थी
मेरा दावा है होंठों पे आ जाएगी
तू मसीहा मुहब्बत के मारों का है
हम तेरा नाम सुनके चले आए हैं
अब दवा दे हमें या तू दे दे ज़हर
तेरी महफ़िल में ये दिलजले आए हैं
एक एहसान कर, एहसान कर,
इक एहसान कर अपने मेहमान पर
अपने मेहमान पर एक एहसान कर
दे दुआएं,  दे दुआएं तुझे उम्र भर के लिये
सलामे\-इश्क़ मेरी जां ज़रा क़ुबूल कर लो ...


  • चित्रपट : मुकद्दर का सिकंदर (१९७८
  • गीतकार : अंजान, 
  • गायक : लता - किशोर, 
  • संगीतकार : कल्याणजी आनंदजी, 

Salaam-E-Ishk-Meri-Jaan-सलाम-ए-इश्क़-मेरी-जाँ-Muqaddar-Ka-Sikandar (1978)

सलाम\-ए\-इश्क़ मेरी जाँ ज़रा क़ुबूल कर लो हिंदी लिरिक्स 

Ishkawaalon se naa puchho, ki unaki raat kaa alam tanahaa kaise gujarataa hai
Judaa ho hamasafr jisakaa wo usako yaad karataa hai
Naa ho jisakaa koi wo milane ki friyaad karataa hai

Salaam-E-Ishk Meri Jaan, Jraa Kabul Kar Lo
Tum hamase pyaar karane ki jraa si bhul kar lo
Meraa dil bechain hai hamasafr ke lie

Main sunaauan tumhe baat ek raat ki
Chaaand bhi apani puri jawaani pe thaa
Dil men tufaan thaa, ek aramaan thaa
Dil kaa tufaan apani rawaani pe thaa
Ek baadal udhar se chalaa jhumake
Dekhate dekhate chaaand par chhaa gayaa
Chaaand bhi kho gayaa us ki agosh men
Uf ye kyaa ho gayaa josh hi josh men
Meraa dil dhadkaa, meraa dil tadpaa, kisi ki najr ke liye

Is ke age ki ab daastaan mujhase sun
Sun ke teri najr dabadabaa jaaegi
Baat dil ki jo ab tak tere dil men thi
Meraa daawaa hai honthhon pe a jaaegi
Tu masihaa mohabbat ke maaron kaa hai
Ham teraa naam sun ke chale ae hai
Ab dawaan de hame yaa tu de de jahar
Teri mahafil men ye dil jale ae hai
Ek ehasaan kar apane mehamaan par
Apane mehamaan par ek ehasaan kar
De duwaaen tujhe umrabhar ke lie





Salaam-E-Ishk Meri Jaan, Jraa Kabul Kar Lo Hindi Song Lyrics
सलाम\-ए\-इश्क़ मेरी जाँ ज़रा क़ुबूल कर लो हिंदी लिरिक्स 

Salaam-E-Ishk Meri Jaan / सलाम\-ए\-इश्क़ मेरी जाँ / Muqaddar Ka Sikandar (1978) Salaam-E-Ishk Meri Jaan / सलाम\-ए\-इश्क़ मेरी जाँ / Muqaddar Ka Sikandar (1978) Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 19, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.