Tumhari Nazron Mein Humne Dekha / तुम्हारी नज़रों में हम ने देखा / Lyrics In Hindi Kal Ki Awaz (1992

Tumhari Nazron Mein Humne Dekha Lyrics In Hindi Kal Ki Awaz (1992

तुम्हारी नज़रों में हम ने देखा
अजब सी चाहत झलक रही हैं
तुम्हारे होठों की सुर्खियों से – २
वफ़ा की शबनम छलक रही हैं

तुम्हारी नज़रों …
अजब सी …
हमारी सांसों को छू के देखो
तुम्हारी खुशबू महक रही है

क़सम खुदा की यक़ीं करलो
कहीं भी ना होगा हुस्न ऐसा
न देखो ऐसे झुका के पलकें – २
हमारी नीयत बहक रही हैं

तुम्हारी नज़रों …
अजब सी …
तुम्हारी उल्फ़त में जानेजाना
हमें मिली थी जो एक धड़कन
हमारे सीने में आज तक वो – २
तुम्हारी धड़कन धड़क रही हैं

तुम्हारी नज़रों …
अजब सी …


Tumhari-Nazron-Mein-Humne-Kal-Ki-Awaz-(1992

तुम्हारी नज़रों में हम ने देखा, अजब सी चाहत झलक रही हैं हिंदी लिरिक्स


Tumhari Nazron Mein Humne Dekha
Ajab Si Chahat Jhalak Rahi Hain
Tumhare Hothon Ki Surkhiyon Se – 2
Wafa Ki Shabanam Chalak Rahi Hain

Tumhari Nazron Mein Humne Dekha
Ajab Si Chahat Jhalak Rahi Hain
Hamari Sanson Ko Chu Ke Dekho
Tumhari Khushbo Mahak Rahi Hai

Qasam Khuda Ki Yaqin Karalo
Kahin Bhi Na Hoga Husn Aisa
Na Dekho Aise Jhuka Ke Palaken – 2
Hamari Niyat Bahak Rahi Hain

Tumhari Nazron Mein Humne Dekha
Ajab Si Chahat Jhalak Rahi Hain
Tumhari Ulfat Men Jaanejana
Hamen Mili Thi Jo Ek Dhadakan
Hamare Sine Men Aaj Tak Vo – 2
Tumhari Dhadakan Dhadak Rahi Hain

Tumhari Nazron….
Ajab Si…..


Tumhari Nazron Mein Humne Dekha  Full Video Song With Lyrics 

Tumhari Nazron Mein Humne Dekha / तुम्हारी नज़रों में हम ने देखा / Lyrics In Hindi Kal Ki Awaz (1992 Tumhari Nazron Mein Humne Dekha / तुम्हारी नज़रों में हम ने देखा /  Lyrics In Hindi Kal Ki Awaz (1992 Reviewed by FM Hindi Song on दिसंबर 30, 2016 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.