Chana jor garam babu main / चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाई मज़ेदार / Lyrics In Hindi Kranti (1981)



Chana jor garam babu main laayi mazedar Lyrics In Hindi Kranti (1981)

तुम-तुम तरारा तुम-तुम तरम
तुम-तुम तरारा तुम-तुम तरम
तुम-तुम तरम-तरम
तुम-तुम तरम-तरम
दुनिया के हों लाख धरम पर अपना एक धरम
चना ज़ोर गरम
चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाई मज़ेदार
चना ज़ोर गरम
चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाया मज़ेदार
चना ज़ोर गरम

मेरा चना बना है आला जिसमें डाला गरम-मसाला
इसको खाएगा दिलवाला चना ज़ोर गरम
मेरा चना खा गया गोरा-गोरा
खा के बन गया तगड़ा घोड़ा
मैने पकड़ के उसे मरोड़ा
मार के टंगड़ी उसको तोड़ा
चना ज़ोर गरम
चना ज़ोर गरम बाबू …

मेरे चने की आँख शराबी-शराबी चने की आँख शराबी
हो इसके देखो गाल गुलाबी-गुलाबी देखो गाल गुलाबी
हो इसका कोई नहीं जवाबी जैसे कोई कुड़ी पंजाबी
नाचे छनन-छनन – 2
कोठे चढ़ के तैनू पुकारां सुन ले मेरे बलम
चना ज़ोर गरम बाबू …

मेरा चना खा गए गोरे-गोरे
मेरा चना खा गए गोरे ओ गोरे
जो गिनती में थे थोड़े
ओ फिर भी मारें हमको कोड़े
तुम-तुम तरम-तरम
लाखों कोड़े टूटे फिर भी टूटा न दम-खम
चना ज़ोर गरम
चना ज़ोर गरम बाबू …

ओ मेरा चना है अपनी मर्ज़ी का
मर्ज़ी का भई मर्ज़ी का
मेरा चना है अपनी मर्ज़ी का
मर्ज़ी का भई मर्ज़ी का
ये दुश्मन है ख़ुदगर्ज़ी का
ख़ुदगर्ज़ी का
ख़ुदगर्ज़ी का

सर क़फ़न बाँध कर निकला है दीवाना है ये पगला है
मेरा चना है अपनी मर्ज़ी का
मर्ज़ी का भई मर्ज़ी का
अपनों से नाता जोड़ेगा ग़ैरों के सर को फोड़ेगा
अपना ये वचन निभाएगा माटी का कर्ज़ चुकाएगा

मिट जाने को मिट जाएगा आज़ाद वतन को कराएगा
न तो चोरी है न तो डाका है बस ये तो एक धमाका है
धमाके में आवाज़ भी है
इक सोज़ भी है इक साज़ भी है
समझो तो ये बात साफ़ भी है
और न समझो तो राज़ भी है
अपनी धरती अपना है गगन ये मेरा है मेरा है वतन – 2
इस पर जो आँख उठाएगा ज़िन्दा दफ़नाया जाएगा
मेरा चना है अपनी मर्ज़ी का
मर्ज़ी का भई मर्ज़ी का
ये दुश्मन है ख़ुदगर्ज़ी का
ख़ुदगर्ज़ी का ख़ुदगर्ज़ी का
Chana-jor-garam-babu-main-Kranti-(1981)


चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाई मज़ेदार हिंदी लिरिक्स

Tum tum tarara, tum tum taram x 4
Tum tum taram, tum tum taram
Duniya ke hain lakh dharam par apna ek karam
Chana jor garam
Chana jor garam babu main laayi mazedar
Chana jor garam
Chana jor garam babu main laya mazedar
Chana jor garam
Mera chana bana hai aala
Jismein dala garam masala
Isko khaayega dilwala chana jor garam

Mera chana kha gaya gora
Mera chana kha gaya gora
Kha ke ban gaya tagda ghoda
Maine pakad ke use maroda
Maar ke tangdi usko toda chana jor garam
Chana jor garam babu main laya mazedar
Chana jor garam

Mere chane ki aankh sharabi
Sharabi, chane ki aankh sharabi
Ho iske dekho gaal gulabi
Gulabi, dekho gaal gulabi
Ho iska koi nahi jawabi, iska koi nahi jawabi
Jaise koi kudi Punjabi, jaise koi kudi Punjabi
Nache chhanan chhanan
Nache chhanan chhanan
Kothe chadhke tainu pukara
Sunle mere balam chana jor garam
Chana jor garam babu main laayi mazedar

Mera chana kha gaye gore
Gore, chana kha gaye gore
Ho gore jo ginti mein hain thode
Ho phir bhi maare humko kode
Phir bhi maare humko kode
Tum tum taram taram, tum tum taram taram
Lakhon kode toorte phir bhi toota na dumkham
Chana jor garam
Chana jor garam babu main laya mazedar
Chana jor garam
Chana jor garam babu main laya mazedar
Chana jor garam
Chana jor garam, chana jor garam
Chana jor garam, chana jor garam
Chana jor garam, chana jor garam

Mera chana hai apni marzi ka
Marzi ka bhai marzi ka
Mera chana hai apni marzi ka
Marzi ka bhai marzi ka
Yeh dushman hai khudgarzi ka
Khudgarzi ka, khudgarzi ka
Sar kafan bandh ke nikla hai
Deewana hai yeh pagla hai
Mera chana hai apni marzi ka
Marzi ka bhai marzi ka
Apnon se naata jodega
Gairon ke sar ko phodega
Apna yeh vachan nibhayega
Maati ka karz chukayega
Chana hai apni marzi ka
Marzi ka bhai marzi ka
Mit jaane ko mit jaayega
Azaad watan kar jaayega
Na to chori hai, na to daaka hai
Bas yeh to ek dhamaka hai
Dhamake mein awaz bhi hai
Ek soz bhi hai, ek saaz bhi hai
Samjho to baat yeh saaf bhi hai
Aur na samjho to raaz bhi hai
Apni dharti, apna hai gagan
Yeh mera hai, mera hai watan
Apni dharti, apna hai gagan
Yeh mera hai, mera hai watan
Is par jo aankh uthayega zinda dafnaya jaayega

Mera chana hai apni marzi ka
Marzi ka bhai marzi ka
Yeh dushman hai khudgarzi ka
Khudgarzi ka, khudgarzi ka
Mera chana hai apni marzi ka
Marzi ka bhai marzi ka
Yeh dushman hai khudgarzi ka
Khudgarzi ka, khudgarzi ka



Chana jor garam babu main / चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाई मज़ेदार / Full Video Song With Lyrics /  Dilip Kumar, Manoj Kumar, Hema Malini, Shatrughan Sinha, Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Nitin Mukesh, Mohammad Rafi, 

Chana jor garam babu main / चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाई मज़ेदार / Lyrics In Hindi Kranti (1981) Chana jor garam babu main / चना ज़ोर गरम बाबू मैं लाई मज़ेदार / Lyrics In Hindi Kranti (1981) Reviewed by FM Hindi Song on जनवरी 03, 2017 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.