Ham Laaye Hain Toofaan Se/हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के/Lyrics In Hind

Ham Laaye Hain Toofaan Se Kashti Nikaal Ke-Lyrics In Hindi-Jaagriti

पासे सभी उलट गए दुश्मन की चाल के
अक्षर सभी पलट गए भारत के भाल के
मंज़िल पे आया मुल्क हर बला को टाल के
सदियों के बाद फिर उड़े बादल गुलाल के

हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के
तुम ही भविष्य हो मेरे भारत विशाल के
इस देश को रखना मेरे बच्चों सम्भाल के

१) देखो कहीं बरबाद ना होए ये बगीचा
इसको हृदय के खून से बापू ने है सींचा
रक्खा है ये चिराग़ शहीदों ने बाल के, इस देश को...

२) दुनिया के दांव पेंच से रखना ना वास्ता
मंज़िल तुम्हारी दूर है लम्बा है रास्ता
भटका ना दे कोई तुम्हें धोखे में डाल के, इस देश को...

३) ऐटम बमों के जोर पे ऐंठी है ये दुनिया
बारूद के इक ढेर पे बैठी है ये दुनिया
तुम हर कदम उठाना ज़रा देख भाल के, इस देश को...

४) आराम की तुम भूल भुलय्या में ना भूलो
सपनों के हिंडोलों पे मगन होके ना झूलो
अब वक़्त आ गया है मेरे हँसते हुए फूलों
उठो छलाँग मार के आकाश को छू लो
तुम गाड़ दो गगन पे तिरंगा उछाल के, इस देश को.
Ham-Laaye-Hain-Toofaan-Jaagriti

हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के  हिंदी लिरिक्स

paase sabhi ulat gaye dushman ki chaal ke
akshar sabhi palat gaye bhaarat ke bhaal ke
manzil pe aaya mulk har bala ko taal ke
sadiyon ke baad phir ude badal gulaal ke
ham laaye hain toofaan se kashti nikaal ke
iss desh ko rakhana mere bachchon sambhaal ke
tum hi bhavishhya ho mere bhaarat vishaal ke
is desh ko rakhana mere bachchon sambhaal ke

dekho kaheen barbaad na hove ye bageecha
isako hriday ke khoon se baapu ne hai seencha
rakkha hai ye chiraag shaheedon ne baal ke, is desh kot...

duniya ke daanv pench se rakhana na vaasta
manzil tumhaari duur hai lamba hai raasta
bhatka na de koi tumhen dhokhe mein daal ke, is desh ko...

aitam bamon ke zor pe ainthi hai ye duniya
baarood ke ik dher pe baithi hai ye duniya
tum har kadam uthaana zara dekha bhaal ke, is desh ko...

araam ki tum bhool bhulayya mein na bhoolo
sapanon ke hindolon pe magan hoke na jhoolo
ab waqt aa gaya hai mere hansate hue phoolon
utho chhalaang maar ke aakaash ko chhu lo
tum gaad do gagan pe tiranga uchhaal ke, is desh ko...


Ham Laaye Hain Toofaan Se, हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के, Lyrics In Hind, Jaagriti (1954), Mohammad Rafi, Hemant Kumar, Pradeep, 

Ham Laaye Hain Toofaan Se/हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के/Lyrics In Hind Ham Laaye Hain Toofaan Se/हम लाए हैं तूफ़ान से कश्ती निकाल के/Lyrics In Hind Reviewed by FM Hindi Song on जनवरी 19, 2017 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

Blogger द्वारा संचालित.